fbpx
खबरराष्ट्रीय

आज नहीं होगा आफताब का नार्को टेस्ट, अफसरों को कोर्ट के आदेश का इंतजार

Written by :- vipin vishwakarma

कोर्ट द्वारा श्रद्धा मर्डर केस में नार्को टेस्ट की अनुमति देने के बाद पुलिस पूरी तरह तैयार हैं, लेकिन आरोपी आफताब का नार्को टेस्ट आज नहीं होगा। फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) के अधिकारी ने कहा कि नार्को टेस्ट से पहले उसके इमोशनल, साइकोलॉजिकल और फिजिकल हेल्थ का पता लगाने के लिए प्री-नार्को टेस्ट किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अगर इनमें से किसी भी रिपोर्ट में गड़बड़ी पाई जाती है तो नार्को एनालिसिस टेस्ट नहीं होगा।

वहीँ फोरेंसिक साइकोलॉजी डिवीजन हेड डॉ. पुनीत पुरी ने बताया कि पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए व्यक्ति की अनुमति चाहिए होती है। अगर हमें आज कोर्ट के आदेश मिल जाते हैं, तो 10 दिनों में पॉलीग्राफ, साइकोलॉजिकल और नार्को टेस्ट के सारे काम पूरे हो जाऐंगे। यह टेस्ट रोहिणी के डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में किया जाएगा। इसके लिए दिल्ली पुलिस ने 50 सवालों की लिस्ट तैयार की है। टेस्ट के दौरान फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) की टीम भी मौके पर मौजूद रहेगी। श्रद्धा मर्डर केस के अपडेट्स की बात करें तो,

दिल्ली पुलिस आज मुंबई के उस फाइव स्टार होटल स्टाफ से पूछताछ करेगी, जहां आफताब शेफ के तौर पर काम करता था।
दिल्ली पुलिस की टीमें हिमाचल प्रदेश के पार्वती घाटी इलाके, देहरादून और ऋषिकेश में भी सर्च अभियान चला रही हैं।
पुलिस ने छतरपुर जिले के महरौली जंगल से तीसरे दिन खोपड़ी और कुछ हड्डियां मिलीं। अब तक 17 हड्डियां बरामद की गई हैं, उन्हें फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा।
दिल्ली पुलिस की टीम का अभी तक आफताब के परिवार से कोई संपर्क नहीं हो पाया है। उनकी तलाश जारी है।
दिल्ली पुलिस अब भी मर्डर वेपन, श्रद्धा के फोन और कपड़ों की तलाश कर रही है।
श्रद्धा मर्डर केस की जांच CBI को सौंपने की मांग
दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर कर श्रद्धा मर्डर केस की जांच CBI को सौंपने की मांग की गई है। एक प्रैक्टिसिंग वकील ने याचिका में कहा है कि यह घटना लगभग 6 महीने पहले हुई थी। दिल्ली पुलिस के पास कर्मचारियों की कमी और सबूतों को खोजने के लिए पर्याप्त तकनीकी उपकरणों की कमी है। इस कारण सटीक जांच नहीं की जा सकती है।

तालाब में फेंका श्रद्धा का सिर


इससे पहले दिल्ली पुलिस के सामने आफताब ने कबूल किया कि उसने श्रद्धा का सिर दिल्ली के एक तालाब में फेंका था। इस जानकारी के बाद दिल्ली पुलिस रविवार शाम छतरपुर जिले के मैदान गढ़ी पहुंची और यहां मौजूद एक तालाब खाली करवाने का काम शुरू किया गया। इसके अलावा गोताखोरों को भी बुलाया गया। अभी तक श्रद्धा का सिर नहीं मिल पाया है।

आफताब के परिवार ने 20 दिन पहले खाली किया घर


दिल्ली पुलिस की टीम ने रविवार को पालघर जिले के वसई इलाके की यूनीक पार्क हाउसिंग सोसाइटी के सेक्रेटरी अब्दुल्ला खान का बयान दर्ज किया, जहां आरोपी आफताब अपने परिवार के साथ रहता था। पूछताछ में खान ने बताया कि आफताब को घर किराए पर दे रखा है। उसके परिवार ने करीब 20 दिन पहले अपना घर खाली कर दिया था।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button