fbpx
उत्तर प्रदेशखबर

ट्रेन में नमाज पढ़ने पर विवाद पूर्व सैनिक ने बाथरूम के लिए रास्ता मांगा तो रोक दिया; मंत्र उच्चारण करने पर बेरहमी से पीटा

Written by :- vipin vishwakarma

स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस में नमाज पढ़ने को लेकर विवाद का मामला सामने आया है। ट्रेन में यात्रा कर रहे पूर्व सैनिक ने नमाज पढ़ रहे लोगों से रास्ता मांगा तो उन्होंने मना कर दिया। जब पूर्व सैनिक अपनी सीट पर मंत्रोच्चार करने लगा तो उसके साथ बेहरमी से मारपीट कर दी। घायल पूर्व सैनिक को बैतूल में भर्ती कराया गया है। पूर्व सैनिक विलास नायक हजरत निजामुद्दीन से चलने वाली 12804 स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस के S4 कोच में सफर कर रहे थे। वे विशाखापट्टनम जा रहे थे। रविवार रात को ट्रेन के रास्ते में कुछ लोग नमाज पढ़ने के लिए बैठ गए। विलास नायक ने शौचालय के लिए उनसे रास्ता मांगा तो उन्होंने मना कर दिया। इसके कुछ देर बाद विलास नायक ट्रेन के रास्ते में मंत्रों का उच्चारण करने के लिए बैठ गए। कुछ देर बाद पैंट्री कार के मैनेजर और कर्मचारियों ने विलास नायक बेरहमी से पीट दिया। इससे विलास लहूलुहान हो गए। उनके चेहरे सहित शरीर में कई जगह चोट आई। जीआरपी ने घायल विलास नायक को बैतूल स्टेशन पर उतरवाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

बाथरूम जाने के लिए नहीं दिया रास्ता

विलास नायक ने बताया कि वे महाराष्ट्र के डोनीवाड़ी कोल्हापुर का रहने वाले हैं। वह विशाखापट्टनम के नेवल डाॅकयार्ड की DSC प्लाटून में सिपाही के पद पर हैं। इससे पहले वे 28 साल सेना में रहे हैं। वह हरिद्वार रामदेव बाबा के आश्रम से इलाज कराकर लौट रहा थे। रविवार सुबह ट्रेन के चलते ही कुछ लोग सामूहिक रूप से नमाज पढ़ने के लिए रास्ते में बैठ गए। इसके बाद दोपहर एक बजे फिर से रास्ते में बैठकर सामूहिक नमाज पढ़ने लगे।शाम को वे तीसरी बार ट्रेन के रास्ते में नमाज पढ़ रहे थे। मैंने बाथरूम जाने के लिए रास्ता मांगा, तो नमाजियों ने रास्ता नहीं दिया। लोगों ने उन्हें लौटा दिया। मैंने उनसे कहा कि यह गलत है, आप लोग रास्ता रोककर नमाज पढ़ेंगे तो मैं भी मंत्रों का जाप करूंगा।

तीन लोगों ने मिलकर की मारपीट

विलास नायक ने कहा- मैं रास्ते में बैठ कर मंत्र का जाप करने लगा। इस बात पर नमाज पढ़ने वाले लोगों ने रास्ते से हटने के लिए कहा। इसी दौरान पैंट्री कार के कर्मचारी ने मुझे रास्ते से हटने के लिए कहा। मैंने कहा कि जब नमाज पढ़ी जा सकती है, तो मंत्र क्यों नहीं पढ़े जा सकते। उसके बाद अपने सीनियर और कुछ साथियों को साथ लाकर 3 लोगों ने मेरे साथ जमकर मारपीट की। इस घटना को बोगी में बैठे सभी लोग देखते रहे थे।

मारपीट के बाद बनाया वीडियो

मारपीट के बाद विलास ने चलती ट्रेन से वीडियो बनाया। इसमें वे लहूलुहान हालत में अपनी पीड़ा बता रहे हैं। इस वीडियो में विलास बता रहे हैं जिन लोगों से उनका विवाद हुआ वे केरल जा रहे हैं। सभी हजरत निजामुद्दीन से ट्रेन में सवार हुए थे। घायल विलास नायक की शिकायत पर जीआरपी की टीम जांच कर रही है। इस मामले में पूछताछ के लिए पैंट्री कार मैनेजर व कोच में यात्रा कर रहे जमातियों में से कुछ लोगों को बैतूल में उतारा गया है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button