Home Hindi ललितपुरः पंचायत चुनाव के प्रत्याशी भी बरतें सावधानी

ललितपुरः पंचायत चुनाव के प्रत्याशी भी बरतें सावधानी

190
0
SHARE

प्रत्याशी व उनके सहयोगी अवश्य करायें कोविड की जांच
ललितपुर। जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार की अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि सैम्पल की संख्या बढ़ाई जाये, पंचायत चुनाव के मद्देनजर विशेष सावधानी रखी जाये। पंचायत निर्वाचन के सभी प्रत्याशी विशेष सावधानी बरतें तथा अपनी एवं अपने सहयोगियों की कोविड जांच अवश्य करायें। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि जनपद में केसों की संख्या को देखते हुए जांच की संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। मड़ावरा क्षेत्र में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के सम्बंध में यह बात संज्ञान में आयी है कि कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और सैम्पलिंग की टीम साथ नहीं जा रही है। इस पर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त की गई। मुख्य विकास अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि जनपद में एम्बुलेंस समय से मरीज तक नहीं पहुंच रही है तथा एम्बुलेंस प्रभारी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का फोन रिसीव नहीं करते हैं। इस पर जिलाधिकारी ने चेतावनी देते हुए निर्देश दिये कि यदि कार्यपद्धति में सुधार न लाया गया तो सम्बंधित संस्था को ब्लैकलिस्टिड कर उसके विरुद्ध दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। कन्टेन्मेंट जोन एवं सैनिटाइजेशन की समीक्षा के दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग टीम से पूछताछ की कि मड़ावरा और महरौनी में सैनेटाइजेशन किया गया अथवा नहीं, उन्होंने कहा कि यह बात संज्ञान में आयी है कि ग्रामीण क्षेत्रों में सैनेटाइजेशन नहीं किया जा रहा है। पावर प्लांट में 41 लोग पॉजिटिव पाये गए हैं, जिसमें से 14 को तालबेहट तथा शेष 27 को होम आईसोलेशन में रखा गया है। इसके उपरान्त मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जांच में सहयोग के लिए अतिरिक्त लैब टेक्निशियन की आवश्यकता है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि आवश्यकता पडऩे पर प्राईवेट लैब का भी सहयोग लिया जाए। कोविड अस्पतालों की समीक्षा के दौरान अस्पतालों में वैंटीलेटर की समीक्षा की गई, जिसमें डा.दुबे द्वारा बताया गया कि जनपद में वैंटीलेटर की आवश्यकता है साथ ही एल-2 अस्पतालों में मानव संसाधन की भी कमी है। इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि जिन संसाधनों की आवश्यकता हो उनको प्राप्त करने के लिए शासन को अवगत करायें। बैठक में पुलिस अधीक्षक ने कहा कि सभी को नयी ऊर्जा के साथ कार्य करना होगा, क्योंकि परिस्थितियां पूर्व की अपेक्षा अधिक जटिल हैं। सभी विभागों के लोग आपस में सामन्जस्य बनाकर रखें, आगामी चुनाव के मद्देनजर हमें सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि सभी प्राईवेट हॉस्पिटल को यह समझना है कि वे बिना कोविड जांच के इलाज प्रारंभ न करें। किसी भी दशा में होम आईसोलेशन का व्यक्ति बाहर घूमते नहीं पाया जाना चाहिए। कन्टैन्मेंट जोन में बैरीकेंटंग की उचित व्यवस्था की जाये। निगरानी समितियों को क्रियाशील बनाया जाये, इसके साथ ही समितियां इस बात पर नजर रखें कि कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति बाहर न घूमे। बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि अपने विभागीय लोगों के बीच कार्य का विवरण ठीक ढंग से सुनिश्चित करें, महामारी से प्रशासन एवं आम जनता को सहयोगी रुप से लडऩा है। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि एम.ओ.आई.सी.अपने कार्यों का निर्वहन गंभीरतापूर्वक करें। एम.ओ.आई.सी.अपने-अपने क्षेत्र में जो भी मरीज हैं, उनके संदर्भ में पूर्ण जानकारी रखें। कोरोना कण्ट्रोल रुम में प्रतिदिन एक पुलिस अधिकारी बैंठेगें जो अनट्रेसेवल मरीजों को ट्रेस करने के लिए पुलिस विभाग की ओर से सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में अधिक मरीज निकल रहे हैं, वहा पर फोकस्ड ट्रेसिंग करायी जाये। बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार, सीडीओ अनिल कुमार पाण्डेय, एडीएम वि./रा.अनिल कुमार मिश्र, एडीएम न्यायिक रजनीश राय, एएसपी, सीएमओ डा.डी.के.गर्ग, जिला क्षय रोग अधिकारी डा.जे.एस.बक्शी, ईओ निहालचन्द्र, डा.मुकेश दुबे सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

केतन दुबे- ब्यूरो रिपोर्ट
📞9889199324

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here