Home Hindi मड़ावरा: छै: दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण में शिक्षक सीख रहे हैं पढ़ाने के...

मड़ावरा: छै: दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण में शिक्षक सीख रहे हैं पढ़ाने के नये टिप्स

245
0
SHARE

शिक्षण कार्य बाद असली खुशी तब मिलती है जब कोई ऊचाइयों पर पहुंच जाए: संतोष कुमार सिंह

शिक्षक विद्यालयों में बच्चों के साथ सकारात्मक ऊर्जा के साथ करें कार्य

ब्लॉक संसाधन केन्द्र मड़ावरा में आयोजित प्रशिक्षण में शिक्षक / शिक्षा मित्रों को दिया जा रहा है प्रशिक्षण

ललितपुर। परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह बदलने की तैयारी प्रारम्भ हो गई है।बच्चे विद्यालयों में नई तकनीक से शिक्षा ग्रहण करें इसके लिये उन्हें निरंतर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ब्लॉक संसाधन केंद्र मड़ावरा में जिला बेसिक अधिकारी रामप्रवेश एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा के निर्देशन में शिक्षकों एवं शिक्षामित्रों को 2 दिवसीय “आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका” कक्षा एक से तीन तक के बच्चों में भाषा और गणित के विकास के लिए शिक्षकों को दिया जा रहा है प्रशिक्षण एवं 6 दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण देकर उन्हें बच्चों को पढ़ाने के नये आयामों की सीख दी जा रही है। आयोजित प्रशिक्षण का अवलोकन डॉयट मेन्टर सन्तोष कुमार सिंह कर आवश्यक सुझाव व प्रेरणादायक कहानी के माध्यम बेहतरीन कार्य करने व अपने दायित्वों का निर्वहन 100 प्रतिशत ठीक ढंग से निर्वहन करने को प्रेरित किया।

प्रशिक्षण में डॉयट मेन्टर सन्तोष कुमार सिंह ने कहा कि काम ऐसा करें कि उसकी छाप दिखाई दी। उन्होंने कहा कि शिक्षक को अपने दायित्वों को ठीक से निर्वहन करने की आवश्यकता है। बच्चों को अच्छी सोँच के साथ पढ़ाएं जिससे कि वह ठीक से पढ़ना लिखना सीख सकें। कहा कि जब आपका पढ़ाया हुआ कोई बच्चा अच्छे पदों पर पहुंच जाएगा और आपको सम्मान देगा तब आपको कितना गर्व महसूस होगा। कहा कि हमारी सफलता हमारे कार्यों से है। इसलिए हम अपनी पहचान को बनाये रखते हुए आगे की उचाईयों को छूने के लिये अच्छे मन से प्रयास करें। कोई भी कार्य असम्भव नहीं है आपकी सकारात्मक ऊर्जा के साथ किया गया कार्य आपको ऊचाइयों तक जरूर पहुंचाएगा।

इस अवसर पर खण्ड शिक्षा अधिकारी रामगोपाल वर्मा ने कहा कि शिक्षक का पद बहुत ही महत्वपूर्ण है। बच्चों की ठीक से पहचान करने में शिक्षक से अधिक और कोई भी अधिक पहचान नहीं कर सकता है। अब समय आ गया कि प्रशिक्षण में दी जा रही जानकारियों हासिल कर उनके अनुरूप विद्यालयों में कार्य करें परिवर्तन अवश्य होगा। उन्होंने कहा कि सकारात्मक ऊर्जा के साथ कार्य करने की जरूरत है। कहा कि यदि आप लोग बच्चों पर अच्छे मन से आप लोग मेहनत करेंगें, मेहनत से उन्हें पढाएंगें तो अच्छे परिणाम जरूर देखने को मिलेंगें। उन्होंने सभी शिक्षकों को मेहनत एवं ईमानदारी के साथ कार्य करने की प्रेरणा दी।

इस दौरान संदर्भदाता सुरेश कुमार, भरत कुमार चौरसिया, राजेश कुमार शर्मा, शक्ति सिंह, अमित श्रीवास्तव, दीपक दिवाकर, संतोष कुमार, हिर्देश पांचाल, अनिल पटेरिया, मानसिंह, आशीष त्रिपाठी, जुबैर खान, सुनील कुमार, दिव्यांशु वैद्य, मनोज जैन सहित शिक्षक/शिक्षिकाएँ/शिक्षामित्र आदि उपस्थित रहे।

✍️रामकुमार पटेल

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here