Home Hindi ऐश्वर्या राय बच्चन पहुँची बुंदेलखंड, जानिए कहाँ और किस फ़िल्म की हो...

ऐश्वर्या राय बच्चन पहुँची बुंदेलखंड, जानिए कहाँ और किस फ़िल्म की हो रही है शूटिंग

5704
0
SHARE

पूर्व विश्व सुंदरी और अभिषेक बच्चन की पत्नी बॉलीवुड स्टार ऐश्वर्या राय बच्चन अपनी बेटी आराध्या बच्चन के साथ शुक्रवार को 4 बजे, विशेष विमान से दतिया हवाई पट्टी पर उतरी। ऐश्वर्या राय बच्चन ओरछा में हो रही अपनी फिल्म शूटिंग में शामिल होने बुंदेलखंड आई है। पूर्व में उनका मां पीतांबरा मंदिर में भी जाने का कार्यक्रम था किंतु अपरिहार्य कारणों से वह निरस्त कर दिया गया।

इसके पहले साउथ के कई जाने माने कलाकार परसो ओरछा पहुंच चुके है। जिनमे सुपर स्टार कार्थी और किरदार अभिनेता प्रकाश राज शामिल है। अभिनेत्री त्रिशा भी कल शूटिंग में शामिल हो चुकी है। सूत्रों की माने तो फ़िल्म का 80% भाग शूट किया जा चुका है। फ़िल्म के आखिरी हिस्से की शूटिंग ओरछा में होनी है। ओरछा में फ़िल्म क्रू 15 दिन के लिए आया है।

बुंदेलखंड के ओरछा में जाने माने फ़िल्म डायरेक्टर मणिरत्नम की आने वाली मल्टी स्टारर फ़िल्म पोंनियिन सेलवन की शूटिंग चल रही है। इस बड़े बजट की फ़िल्म में साउथ के कलाकारों के साथ बॉलीवुड के भी बड़े कलाकार है। बड़े सितारों में विक्रम, जायम रवि, कार्थी, ऐश्वर्या राय बच्चन, त्रिशा, विक्रम प्रभु, शोभिता धूलिपाला, अदिति राव हैदरी, ऐश्वर्या लक्ष्मी अश्विन काकुमानु शामिल है। फ़िल्म को संगीत से सजाया है ऐ आर रहमान ने।

फ़िल्म एक ऐतिहासिक उपन्यास पर आधारित है, जिसमें बहुत से वास्तविक ऐतिहासिक पात्रों और ज्यादातर असली ऐतिहासिक घटनाओं को सम्मिलित किया गया हैं। चोल राजवंश पर उपलब्ध प्राचीनतम प्रमाण प्रसिद्ध चोल राजा करिकल पेरुवलाथन और उनके बाद के कई अन्य प्रसिद्ध राजाओं जैसे किल्लीवलावन, नेदुन्किल्ली, पेरुन्किल्ली आदि के बारे में है। पोंनियिन सेलवन को व्यापक रूप से अभी तक का तमिल में लिखित सबसे बड़ा उपन्यास माना जाता है। यह 10 वीं सदी के दौरान चोला साम्राज्य के ऐश्वर्य से संबंधित है। यह कल्कि आवधिक तमिल के अनुसार क्रमानुगत था। यह धारावाही प्रकाशन साढें तीन साल के लिए चला और हर सप्ताह बहुत रूचि के साथ इसके प्रकाशन की प्रतीक्षा की जाती थी। यह उपन्यास सबसे पहले 1950 दशक के दौरान तमिल साप्ताहिकी कल्कि में 3.5 साल तक अध्याय के रूप में प्रकाशित किया गया था। किताब और लेखक की विशाल लोकप्रियता को ध्यान में रखते हुए तमिलनाडु सरकार द्वारा इस उपन्यास को राष्ट्रीयकृत किया गया था और यह हर किसी के लिए प्रकाशन हेतु एक खुले स्रोत के रूप में उपलब्ध है।

केतन दुबे- ब्यूरो रिपोर्ट
📞9889199324

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here