Home Hindi बंगरा: नहीं सुधर रहे हालात, खुदा पड़ा है तालाब, बड़ी अनहोनी की...

बंगरा: नहीं सुधर रहे हालात, खुदा पड़ा है तालाब, बड़ी अनहोनी की आशंका

147
0
SHARE

:गड्ढों में फंसकर मरने लगे जानबर
आदेश के बाद भी नहीं हुई कार्यबाही?
: सिंचाई बिभाग के आदेश हुये हवा हबाई
: तालाब में बन चुके हैं कई मीटर गहरे गड्ढे
———————————–
बंगरा. बंगरा के ग्राम सेकरा में बगैर किसी अनुमति के तालाब को काट दिया गया और अबैध कटाव करते हुये उसमें से कई ट्रक मिट्टी खोदकर निकालकर बेंच दी गई। खबर प्रकाशित होते ही प्रशासन हरकत में आ गया और मामला बढ़ता देख खुदाई करने बाले लोग मौके से भाग खड़े हुये ,मामले को संज्ञान में लेते हुये सिंचाई बिभाग के आलाधिकारी मौके पर जा पहुंचे और स्थिति से रूबरू होते हुये बड़ी कमी पाई। आलम यह है कि इन खुदे पड़े गड्ढों में कई जानबर फंसकर मरने लगे हैं। बिशेष जानकारी अनुसार बताते चलें कि बंगरा के ग्राम सेकरा में बर्षों पुराने तालाब को रातोंरात काट डाला गया,अबैध कटाव की बजह से ग्रामीणों को भी बड़ी समस्या का सामना करना पड़ा। सेकरा गाँव का उक्त तालाब किसानों की बड़ी जरूरतों को पूरा करता है लेकिन पीएनसी कंपनी के एक ठेकेदार ने मनमानीं करते हुये बगैर किसी सरकारी अनुमति के ही कई ट्रक मिट्टी को खोदकर निकाल दिया। पीएनसी कम्पनी ने भी ठेकेदार की इस हरकत पर बड़ी आपत्ती जताई थी। पीएनसी कम्पनी के छेत्रीय अधिकारी रजत जैन ने भी माना था कि बगैर अनुमति के मनमानी करना किसी अपराध से कम नहीं है। तालाब की कटाई और मिट्टी के बेचने की खबर पर सिंचाई बिभाग के अफसरों ने आड़े हाथों लेते हुये मामला संज्ञान में लिए और ठेकेदार को जल्द उक्त समस्या को खत्म करने की बात कही। सिंचाई बिभाग के अधिकारी धीर सिंह ने बताया कि खोदे गये अबैध गड्ढों को तुरन्त भर दिया जाये और तालाब के बांध को सही कर दिया जाये, अगर नहीं होता है तो पुलिस कार्यबाही की जाएगी।
सिंचाई बिभाग के आदेश दिए हुये चार दिन बीत जाने के बाद भी मामला ज्यों का त्यों है और कुछ कार्यबाही नहीं हुई। बतादें की सरकारी आदेश के बाद भी कोई ठेकेदार की मनमानीं जारी है और गड्ढों को पाटने की बजाय और खुदाई की जा रही है,रातों रात अब भी खुदाई जारी है। बिशेष बात बताते चलें कि सिंचाई बिभाग के अधिशासी अभियंता रामशंकर राजपूत, दीपांकर, अभियंता धीर सिंह सहित एसडीएम मऊरानीपुर ने भी जांच एवं जरूरी कार्यबाही के आदेश दिए थे लेकिन ठेकेदार द्वारा अब तक न तो गड्ढो को बंद किया गया और न ही खुदाई का कार्य रोका गया ,लगातार खुदाई जारी है। तालाब में बने गड्ढ़े कई फीट गहरे हो चुके हैं कभी भी कोई बड़ी घटना घट सकती है। तमाम आदेश होने के बाद भी समस्याओं का निराकरण नहीं हो पा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि गड्ढों को तुरन्त बंद कराया जाये बरना कोई बड़ी घटना तक घट सकती है। ट्रकों की बजह से सेकरा गाँव से पलरा जाने बाली सड़क पूरी तरह से उखड़ चुकी है।

✍️मृत्युंजय बबेले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here