Home Hindi महरौनी( ललितपुर): कुम्हेड़ी में एक सप्ताह से पसरा अँधेरा

महरौनी( ललितपुर): कुम्हेड़ी में एक सप्ताह से पसरा अँधेरा

152
0
SHARE

बिजली कटौती से बूंद बूंद पानी को तरसे ग्रामीण
विद्युत विभाग के जे ई ने किया फोन स्विच ऑफ
महरौनी( ललितपुर)l भीषण पड़ रही गर्मी ने लोगों की नींद उड़ा दी है l दिन हो या रात लोगों का गर्मी ने हाल बेहाल कर दिया। उपर से बिजली विभाग ने गाँव से आंखे फेर ली हैं ,विगत एक सप्ताह से गांव में लगातार बिजली कटौती की जा रही है। बढ़ते कोविड 19 के संक्रमण के कारण लोग अपने घरों में बंद हैं। लेकिन लगातार विद्युत कटौती से ग्रामीणों में विभाग के प्रति नाराजगी है। जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत कुम्हेड़ी जहां लगभग नौ सौ से अधिक बिजली कनेक्शन है। इस गांव की लगभग दस हजार की आबादी अँधेरे में है। गांव के घर घर में बीमारी पैर पसार रही है। बिजली कटौती से सबसे अधिक परेशानी मरीजों को हो रही है। मरीज दवा खाने के बाद खुले में नहीं सो सकता है। बच्चे हों या वृद्ध सभी भीषण गर्मी से बिलबिला रहे हैं वहीं लगातार बिजली कटौती से पेयजल आपूर्ति भी ठप हो गई है। गांव में लगभग तीन सौ से ज्यादा जल संस्थान के कनेक्शन है। लोग शुद्ध और नियमित आपूर्ति हेतु पानी का कनेक्शन कराते है किन्तु एक सप्ताह से लोग बूंद बूंद पानी को तरस रहे हैं। जल संस्थान के कर्मचारियों से संपर्क करने पर बताया कि लगातार हो रही बिजली कटौती से पेयजल सप्लाई बंद है।
लगातर हो रही विद्युत कटौती से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। सबसे अधिक परेशानी मरीजों को हो रही है,दवा खाने के बाद नींद लेना आवश्यक है और नींद के लिए बिजली आवश्यक है ”
आशू चौधरी ग्रामीण
एक सप्ताह हो गया दिन हो या रात बिजली आपूर्ति बाधित है।
अधिकारियों को सूचना दी लेकिन कोई संतोषजनक उत्तर नहीं मिला केवल आश्वासन मिल रहा है। आज दस हजार की आबादी बिना बिजली के गर्मी के कारण बिलबिला रही है”
श्रीकांत असाटी ग्रामीण
” लोगों ने बताया है कि छायन से बिजली काट दी जाती है। कुम्हेडी के लोग लाइन मेन को लेकर बिजली जुड़वा भी लेते है तो कुछ देर बाद फिर से कुम्हेडी की लाइन काट दी जाती है। बिजली कटौती से पूरा गांव भीषण गर्मी झेल रहा है वहीं पेयजल आपूर्ति भी ठप होने के कारण लोग बूंद बूंद पानी को तरस रहे हैं”
राम भरत निरंजन ग्रामीण
“हजारों की आबादी आज बिना बिजली के दिन काट रही है ये जानकर भी जिम्मेदार विद्युत अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं। एक सप्ताह से लोग दिन रात सो नहीं पा रहे हैं, कारोना संक्रमण के कारण लोग बाहर नहीं निकल पा रहे हैं”

✍️प्रदुम दुबे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here