Home Hindi दमोह : छात्रों ने आगामी वार्षिक परीक्षा को ओपन बुक प्रणाली से...

दमोह : छात्रों ने आगामी वार्षिक परीक्षा को ओपन बुक प्रणाली से कराने हेतु सौंपा ज्ञापन

124
0
SHARE

दमोह में छात्रों ने वार्षिक परीक्षा को ओपन बुक प्रणाली करने के लिए शासकीय ज्ञानचंद कॉलेज के प्राचार्य को लेख लिखा है कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विश्व का सबसे बड़ा गैर राजनैतिक संगठन है जो लगातार 71 वर्षों से राष्ट्रहित में कार्य करता आ रहा है । वैश्विक महामारी के चलते विधार्थियों को निम्न समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है ।उसी को देखते हुए हमारी मांग के निम्न बिंदु इस प्रकार है 1.साल भर कोरोना की चलते कॉलेज में ऑफलाइन क्लासेस लगाना असफल रहा । जिसके चलते अंत के चार महीनों में ऑनलाइन क्लासेस के माध्यम से कोर्स कराया गया।

बच्चों की माने तो ये असफल प्रयास रहा । 2.साल भर का कोर्स चार महीने में समाप्त करना एक अविश्वसनीय कार्य है।और अगर पढ़ाई ऑनलाइन हुई तो पेपर ऑफलाइन क्यों ? 3.कुछ बच्चों के पास Android फोन उपलब्ध न होने के वजह से वे ऑनलाइन क्लास से वंचित रहे और ज्यादातर छात्र ग्रामीण क्षेत्र के निवास है और ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली और नेटवर्क की समस्या के चलते उनको क्लास से जुड़ने में बहुत समस्या हुई।जिसका किसी ने निवारण नहीं किया।

4. वर्तमान समय में वैश्विक आपदा कोरोना वायरस के केस फिर से तेजी से बढना शुरू हो गई है । हमारे शहर दमोह में केस सामने आये हैं ।ऐसे में ऑफलाइन परीक्षा का आयोजन ठीक नहीं होगा और अगर एक भी विद्यार्थी कोरोना पॉजिटिव हुआ या वायरस की चपेट में आ गया तो इससे सभी कोरोना वायरस से संक्रमण हो सकते है जिससे विद्यार्थियों के साथ उनके परिवार को भी संक्रमण का खतरा है । और ऐसा होने पे इसका ज़िम्मेदार कौन होगा ? ” Precaution is much better than cure ” 5.कुछ छात्र बाहर के शहरों में रहकर कोचिंग करते हैं जैसे – इंदौर , भोपाल , दिल्ली आदि।वे लोग वहाँ से परीक्षा देने अगर कॉलेज आयेंगे तो संक्रमण का खतरा अधिक होगा क्योंकि ये शहर कोविड -19 के हॉट स्पॉट है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here