Home Hindi ललितपुरः साब ग्राम पंचायत सिलगन को अनुसूचित जाति करे आरक्षित

ललितपुरः साब ग्राम पंचायत सिलगन को अनुसूचित जाति करे आरक्षित

213
0
SHARE

ग्रामीणों ने लामबंद होकर डीएम को भेजा पत्र, डीपीआरओ को भेजी आपत्ति
ललितपुर। ब्लाक जखौरा की ग्राम पंचायत सिलगन को अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित किये जाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने एक पत्र जिलाधिकारी को व आपत्ति पत्र जिला पंचायत राज अधिकारी को भेजा है।
पत्र में ग्रामीणों ने डीएम को अवगत कराया कि वर्ष 2021 में प्रधानी के चुनाव में ग्राम पंचायत सिलगन को पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है, जबकि आरक्षण के अनुसार उक्त ग्राम पंचायत अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित होनी थी। बताया कि इसके पहले वर्ष 1995 में सिलगन ग्राम पंचायत को सामान्य, वर्ष 2000 में फिर से सामान्य, वर्ष 2005 में पिछड़ी जाति, वर्ष 2010 में सामान्य पुरुष एवं वर्ष 2015 में सामान्य महिला एवं इस वर्ष 2021 में भी पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि वर्ष 1995 से अभी तक ग्राम पंचायत सिलगन को अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित नहीं किया गया है। जिस कारण यहां की आबादी का एक बड़ा हिस्सा जो कि अनुसूचित जाति से सम्बन्धित है भारतीय लोकतंत्र व्यवस्था के लिए लोकतंत्र के सबसे बड़े त्यौहार में भागीदारी नहीं कर पा रही है। उन्होंने बताया कि सिलगन में 600 मतदाता अनुसूचित जाति के हैं, जिसके आधार पर ग्राम प्रधान पद के लिए अनुसूचित जाति का आरक्षण होना अनिवार्य है। उन्होंने माननीय उच्च न्यायालय के आदेश का हवाला देते हुये चक्रानुक्रम में भी ग्राम पंचायत सिलगन को अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित किये जाने की मांग उठायी है। पत्र देते समय अनंदी ठेकेदार, सुखलाल, सुनंदन, अभिषेक रजक, रीतेश, हबीब खां, प्रेमनारायण साहू, पंकज साहू, सूरज, अरविन्द, हमीद खान, गफूर खान, सुन्दर पाल सिंह, वीरपाल सिंह, दौलत सिंह बुन्देला, चालीराजा, जण्डैल सिंह, कल्यान सिंह बुन्देला, चऊदे, परमानंद रजक, शेर सिंह बुन्देला, सुन्दर पाल सिंह, रामपाल सिंह, वीरपाल सिंह, अरविंद सिंह बुन्देला, राजपाल सिंह चौहान, राघवेन्द्र सिंह, सलीम खान, भगवानदास, भरज राजा, पचू, अरविंद महाराज, महेश कुमार के अलावा अनेकों ग्रामीण मौजूद रहे।

✍️अमित लखेरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here