Home Hindi बरुआसागर(झाँसी): व्यापारी श्रम विभाग में पंजीयन कराकर विभागीय योजनाओं का लाभ लें

बरुआसागर(झाँसी): व्यापारी श्रम विभाग में पंजीयन कराकर विभागीय योजनाओं का लाभ लें

305
0
SHARE

व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों से वार्ता में श्रम प्रवर्तन अधिकारी ने नवीन पंजीयन व नवीनीकरण कराने की अपील की

गुरुवार को श्रम प्रवर्तन अधिकारी द्वय एस एन नागेश व आशीष अवस्थी ने नगर के बाज़ार में दुकानों का निरीक्षण करते हुए अनियमितता पाए जाने पर कुछ व्यापारियों के चालान भरते हुए उनसे लाइसेंस नवीनीकरण कराने व जिन्होंने श्रम विभाग में पंजीयन नहीं कराया है उनसे पंजीयन कराने की अपील की। मौके पर पहुंचे व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के साथ वार्ता में उन्होंने पंजीयन व नवीनीकरण की प्रक्रिया व उसके फायदे के बारे में विस्तार से बताया।
श्रम विभाग के अधिकारियों द्वारा बाज़ार में दुकानदारों के चालान काटे जाने की सूचना पाकर उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष संदीप जैन, महामंत्री राजीव बिरथरे, वरिष्ठ व्यापारी नेता संजय जैन आदि ने तत्काल मौके पर पहुंचकर अधिकारियों से वार्ता करते हुए त्योहार के समय पर व्यापारियों के चालान न काटने की अपील की जिसको सहृदयता के साथ स्वीकार करते हुए उन्होंने व्यापारियों से अपने प्रतिष्ठान का पंजीयन कराने और पूर्व पंजीकृत व्यापारियों से नवीनीकरण कराने की अपील की। साथ ही उन्होंने पंजीकरण से होने वाले फायदे व सम्पूर्ण प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी भी दी। लेबर इंस्पेक्टर आशीष अवस्थी ने बताया कि अब पंजीयन व नवीनीकरण प्रक्रिया बड़ी आसान हो गई है और बहुत ही कम शुल्क में यह हो जाता है। पंजीकृत कामगारों को बेटी के विवाह के समय विभाग की ओर से बिना शर्त इक्यावन हज़ार की राशि प्रदान की जाती है। चौदह साल से कम उम्र के बच्चों से काम कराने पर पूर्ण प्रतिबंध बताते हुए कहा कि चौदह से अट्ठारह वर्ष के किशोरों से कुछ शर्तों के साथ काम लिया जा सकता है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि निर्धारित शुल्क का भुगतान करके व्यापारी सप्ताह में सातों दिन अपने प्रतिष्ठान खोल सकता है। उन्होंने कहा कि पंजीयन के लिए व्यापारी अपना पैन कार्ड, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर व दुकान का फोटो निर्धारित शुल्क सहित उपलब्ध कराएं विभाग द्वारा तत्काल उनका पंजीयन किया जाएगा।
इस मौके पर व्यापार मंडल के कोषाध्यक्ष धर्मेंद्र सोनी बल्लन, विमलेश जैन, राजेन्द्र जैन, सौरभ जैन, प्रथम श्रीवास्तव, सुकमाल जैन, धर्मेंद्र तिवारी, प्रवीण हयारण आदि व्यापारी गण मौजूद रहे।

✍️राजीव बिरथरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here