Home Hindi चित्रकूट: जिला पंचायत बैठक की शुरुआत हंगामे के बीच हुई शुरू

चित्रकूट: जिला पंचायत बैठक की शुरुआत हंगामे के बीच हुई शुरू

256
0
SHARE

मुख्य विकास अधिकारी के समय से ना पहुंचने पर सदस्यों ने मचाया हंगामा

पेयजल योजना में लापरवाही पर अध्यक्ष ने अधिकारियों को लगाई फटकार

8 प्रस्तावों पर चर्चा कर स्वीकृति प्रदान की

चित्रकूट : जिला पंचायत की बैठक हंगामेदार शुरुआत के साथ हुई। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी के मौजूद न होने पर मौजूद जिला पंचायत सदस्यों ने खासी नाराजगी जाहिर की इसकी शिकायत सभी ने राज्यमंत्री, सांसद व जिला पंचायत अध्यक्ष से शासन को लिखित शिकायत कर कार्यवाही की मांग की। हंगामे के बाद कुछ ही देर में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी पहुंच गए तब जाकर मामला शांत हुआ। बैठक की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जाटव ने की। जिसमें 8 प्रस्ताव सहित घोषणाएं की गई। बैठक में बीते माह की 12 जुलाई को ही बैठक की कार्यवाही की पुष्टि की गई, प्रस्ताव में 73वें संशोधन के अंतर्गत पंचायती राज व्यवस्था के अधीन विभागों चिकित्सा स्वास्थ्य, पेयजल, विकास विभाग, बेसिक शिक्षा विभाग ,कृषि विभाग, सहकारिता विभाग, पशुधन विभाग, समाज कल्याण विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, भूमि संरक्षण, उद्यान विभाग, पंचायती राज विभाग, लव सिंचाई विभाग, बाल विभाग, मत्स्य विभाग, नलकूप, दुग्ध विभाग, जल निगम, सार्वजनिक निर्माण विभाग, जिला पूर्ति विभाग व नेडा आदि विभागों की प्रगति की समीक्षा की गई। पंचम राज्य वित्त आयोग की संस्तुतियों के अंतर्गत जिला पंचायत चित्रकूट को वित्तीय वर्ष 2021-22 हेतु आवंटित धनराशि के सापेक्ष कार्य योजना की स्वीकृत पर विचार किया गया। जिला पंचायत कार्यालय, अध्यक्ष कैंप कार्यालय, अधिकारी कर्मचारी आवास में सुंदरीकरण व रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम व अन्य कार्यों की स्वीकृत प्रदान की गई। जिला पंचायत की आय को बढ़ाने के लिए भूमि का चिन्हाकन कर गोदाम, दुकान व कांप्लेक्स आदि का निर्माण कार्य पर विचार व स्वीकृति प्रदान की गई।
जिला पंचायत सदस्य विनीत द्विवेदी ने अपने क्षेत्र में जानवरों के टीकाकरण ना होने से बीमारी फैलने की जानकारी दी इस पर अध्यक्ष ने पशुपालन विभाग से मौके में जाकर उचित चिकित्सा व्यवस्था के निर्देश दिए। जिले में‌ पेयजल की समस्या को गंभीरता से लेते हुए जल संस्थान के अधिकारियों को फटकार लगाई कहां की हमारे मंत्री सांसद विधायक व जिला पंचायत सदस्य की शिकायतें हैं कि बहुत से क्षेत्रों में पाइपलाइन अभी तक बिछी ही नहीं है। जिसकी शिकायत ग्रामीण करते हैं और हमें सुनना पड़ता है। अधिकारियों के अक्सर मोबाइल ना लगने पर भी नाराजगी जताई कहा कि अपनी कार्यशैली में सुधार लाइए वरना कार्रवाई के लिए तैयार रहिए। सदस्य मीरा भारती ने पाठा क्षेत्र में अन्ना जानवरों से हो रही फसलों के नुकसान पर चिंता जताते हुए शीघ्र ही निराकरण की मांग की।
बैठक में राज्यमंत्री लोक निर्माण विभाग/विधायक चित्रकूट चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय , सांसद बांदा- चित्रकूट आरके सिंह पटेल ने भी अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कार्यों के शीघ्र निराकरण के आदेश दिए। अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत भगत सिंह ने सभी का स्वागत किया। इस मौके पर सदर ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि गुलाब सिंह पटेल, पहाड़ी ब्लाक प्रमुख सुशील द्विवेदी, मानिकपुर ब्लाक प्रमुख अरविंद मिश्रा, रामनगर ब्लाक प्रमुख गंगाधर मिश्रा , सभी जिला पंचायत सदस्य अर्जुन शुक्ला, शिव औतार त्रिपाठी, अनीता सिंह बघेल, विनीत द्विवेदी, प्रेमा देवी प्रतिनिधि शिव शंकर सिंह, राजरानी प्रतिनिधि दयाराम यादव , अनुराधा देवी, विमला देवी यादव , मीरा भारती, अनिल कुमार कोल, उमाकांत त्रिपाठी, प्रेमचंद वर्मा ,राजाराम पाल जगदीश प्रसाद यादव, दशरथ प्रजापति ,संगीता देवी प्रतिनिधि प्रमोद कुमार व सभी संबंधित विभागीय अधिकारी व जिला पंचायत के कर्मचारी मौजूद रहे।

जिला पंचायत के हर वार्ड में बनेंगे गेट, बोर्ड का फैसला

जिला पंचायत अध्यक्ष ने स्वीकृति प्रदान करते हुए कहा कि जिले के सभी 17 वार्डों में जिला पंचायत सदस्यों की राय लेकर सांकेतिक गेट व बोर्ड हर वार्ड में लगाए जाएंगे। जिसमें जिला पंचायत अध्यक्ष सहित सदस्यों के नाम अंकित होंगे।

✍️पुष्पराज कश्यप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here