Home Hindi मोहन्द्रा: पर्याप्त पुलिस बल के अभाव में चरमराई मोहदरांचल की कानून-व्यवस्था

मोहन्द्रा: पर्याप्त पुलिस बल के अभाव में चरमराई मोहदरांचल की कानून-व्यवस्था

277
0
SHARE

मोहन्द्रा – क्षेत्र में लगातार हो रही चोरी से जनता में पुलिस के प्रति काफी आक्रोश है. चोरी की घटना के बाद पुलिस पर जनता और स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा रात्रि गश्ती न करने और अपराधियों से सख्ती से न निपटने का भी आरोप लगाया जाता है. जबकि एक हकीकत यह भी है कि लगभग दस से पंद्रह किलोमीटर के दायरे में स्थित आधा सैकड़ा गांवों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस चौकी मोहन्द्रा में केवल पांच पुलिस कर्मियों और एक नगर सैनिक को तैनात किया गया है. इसमें कुछ दिन पहले उपनिरीक्षक बने बनमाली लाल को प्रधान आरक्षक से पदोन्नत किया गया, उनका पूरा समय लिखा पढ़ी में निकल जाता है, और शनिवार 31 जुलाई को वे सेवानिवृत्त भी हो गए हैं. वहीँ एक आरक्षक अपरिहार्य कारणों से गैर हाजिर है. तो अंदाजा लगाइए कि इतने पुलिस बल में इलाके की कानून-व्यवस्था कैसी होगी. पूर्व में चौकी पुलिस द्वारा आयोजित शांति समिति की बैठकों में यदा-कदा उपस्थित रहने वाले आला अधिकारियों से स्थानीय लोगों ने चौकी में पुलिस बल बढ़ाने की मांग की, लेकिन आश्वासन के बावजूद कभी खाली पद तो छोड़िये जरुरी बल भी तैनात करने कबायद नहीं हुई . पुलिस अधीक्षक को पन्ना आए कई महीने बीत चुके हैं, लेकिन चौकी क्या थानों में भी क्षेत्र की कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए स्थानीय लोगों से सुझाव लेने बैठक की कोई खबर नहीं मिली. बिगत दो तीन सालों में क्षेत्र के अंदर घटित हुई पचासों चोरियों के बाबजूद आला अधिकारियों का इस ओर ध्यान न देना हैरान करने बाला है . सवाल उठता है क्या पुलिस विभाग के आला अधिकारी क्षेत्र के अंदर किसी गंभीर व् बड़ी डकैती जैसी घटना हो जाने के इंतजार में है ..? रसातल में जा चुकी क्षेत्र की कानून-व्यवस्था की स्थिति से स्थानीय जनप्रतिनिधि भी अनभिज्ञ दिखाई दे रहे. कमोबेश मुख्य विपक्षी दल के कार्यकर्ता भी कानून व्यवस्था पर चुप्पी साधे हुए हैं.

✍️आकाश बहरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here