Home Hindi बरुआसागर: ठेका कंपनी का कर्मचारी चार साल से मंडी परिसर में स्थित...

बरुआसागर: ठेका कंपनी का कर्मचारी चार साल से मंडी परिसर में स्थित परिषद के आवास पर अवैध रूप से काबिज

375
0
SHARE

चिराग तले अंधेरा………..
– जिम्मेवार कौन- अधिकारी मौन।
बरुआसागर। कृषि उत्पादन मंडी समिति, बरुआसागर के आवासीय परिसर में प्राइवेट कंपनी का एक कर्मचारी चार साल से परिषद के आवास में परिवार सहित रह रहा है और किसी को कानों- कान भनक भी नहीं है। जबकि उसी परिसर में तीन और मंडी समिति कर्मी सपरिवार निवास कर रहे हैं।
मंडी परिसर में स्थित इलेक्ट्रॉनिक वेबरेज (धर्मकांटा) के संचालन का ठेका अमृतसर की कंपनी लिओट्रॉनिक्स प्राइवेट लिमिटेड के पास है। धर्मकांटे पर कंपनी द्वारा नियुक्त एक कर्मचारी पिछले चार सालों से परिसर में स्थित एक सरकारी आवास में सपरिवार अवैध तौर पर रह रहा है। बीते चार साल के दरम्यान तीन मंडी सचिव की तैनाती बरुआसागर मंडी में रह चुकी है लेकिन उक्त कर्मचारी को आवास से बेदखल करने की किसी ने ज़हमत नहीं उठाई।
कहा जाता है -चिराग तले अंधेरा होता है। यहाँ तो यह अंधेरा इतना घना हो गया है कि चार सालों से साथ में रह रहा एक अवैध प्रवासी परिवार भी किसी को नज़र नहीं आया। सूत्र बताते हैं कि उक्त कर्मी ने अपना निजी आवास भी इस बीच नगर में बनवा लिया है लेकिन खुद उसमें रहने के बजाय किराए पर उठा रखा है और स्वयं मुफ्त के आवास का मज़ा ले रहा है। लाख टके का सवाल है कि कैसे बिना किसी की जानकारी में आये उक्त व्यक्ति मंडी परिषद के आवास में अवैध रूप से रह रहा है, और अगर सबको जानकारी है तो अब तक उससे आवास खाली क्यों नहीं कराया गया? ज़ाहिर सी बात है कि किसी न किसी बाहुबली मंडी समिति कार्मिक का उक्त व्यक्ति को वरदहस्त प्राप्त है। क्या ज़िम्मेवार उस बाहुबली की पहचान कर उसके और उक्त कर्मी के ऊपर कोई कार्यवाही करेंगे या सब चलता है की तर्ज़ पर यूँ ही सब चलता रहेगा?

✍️राजीव बिरथरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here