Home Hindi चित्रकूट: पुरातत्व विभाग की जमीन पर कब्जा कर रहे भू माफिया, विभाग...

चित्रकूट: पुरातत्व विभाग की जमीन पर कब्जा कर रहे भू माफिया, विभाग उदासीन

150
0
SHARE

 किला बाग की जमीन व बावली का अस्तित्व खतरे में

चित्रकूट। जिले में भू माफियाओं की मनमानी सर चढ़कर बोल रही है पर यह भू माफिया सरकारी जमीनों व गैर सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा कर रहे हैं लेकिन इन पर कार्यवाही करने वाला कोई नहीं है जिसके चलते भूमाफिया अपनी मनमानी करते हुए नजर आ रहे हैं lऐसा ही एक मामला सामने आया है चित्रकूट जिला मुख्यालय से सटे सीतापुर ग्रामीण में बने किला बाग का lपुरातत्व विभाग की अनदेखी के चलते दबंग भू माफियाओं द्वारा किला बाग की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किया जा रहा है जिसमें क़िला बाग की लगभग 7 बिस्वा जमीन को दबंगों द्वारा कब्ज़ा करने का काम किया जा रहा है किला बाग की जमीन पर मंदाकिनी भवन की बाउंड्रीवाल बना दी गई है जिसके कारण किला बाग का अस्तित्व खत्म होता दिखाई दे रहा है l विभाग सुंदरीकरण तो दूर संरक्षण भी नहीं किया जा रहा है |
दबंग भू माफियाओं ने किला बाग की जमीन पर बाउंड्री वाल खड़ी कर दी है वहीं निजी ट्रांसफार्मर रखवा दिया गया है जिसके कारण इस बावली का अस्तित्व खतरे में आ गया है l बता दें कि कई वर्षों पूर्व इस बावली को तत्कालीन जिलाधिकारी ने रंग रोगन भी कराया था | लेकिन अब फिर रख रखाव ना होने के कारण बावली में गंदगी का अंबार है |

सूत्रों के अनुसार पता चला है कि किला बाग की जमीन के पीछे मंदाकिनी भवन के मालिक द्वारा पहले मंदिर का निर्माण कराया गया और फिर मंदिर की आड़ में क़िला बाग की जमीन में अवैध रूप से कब्जा किया जा रहा है। पूर्व में पुरातत्व विभाग द्वारा क़िला बाग का सौंदर्यीकरण कराया गया था लेकिन आज हालात बद से बदतर नजर आ रहे हैं l पुरातत्व विभाग की नियमावली के अनुसार पुरातत्व विभाग की जमीन के आसपास कोई भी नया निर्माण नहीं हो सकता है लेकिन दबंग भू माफियाओं द्वारा मंदाकिनी भवन का निर्माण कराया गया और अब मंदाकिनी भवन के सामने बने किला बाग को खत्म करने की कोशिश की जा रही है l सरकार द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है लेकिन पुरातत्व विभाग की लापरवाही के चलते दबंग भूमाफिया पुरातत्व विभाग की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर निर्माण करा रहे हैं लेकिन इन्हें रोकने वाला कोई नहीं है l

अब देखना यह है कि क्या पुरातत्व विभाग किला बाग की जमीन को बचाने का काम किया जाएगा या फिर दबंग भू माफियाओं द्वारा किला बाग का अस्तित्व ही खत्म कर दिया जाएगा l कुछ ऐसा ही हाल मुख्यालय शंकर बाजार में भू माफियाओं द्वारा पुरातत्व विभाग की जमीन के पास निर्माण कर जिले की ऐतिहासिक धरोहरों को खत्म करने का काम किया जा रहा है

✍️पुष्पराज कश्यप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here