Home Hindi मऊरानीपुर: कर्मचारियों द्वारा बीडीओ को हटाने के लिये किया गया धरना प्रदर्शन

मऊरानीपुर: कर्मचारियों द्वारा बीडीओ को हटाने के लिये किया गया धरना प्रदर्शन

143
0
SHARE

एस डी एम के समझाने के बाद माने धरना पर बैठे कर्मचारी

झांसी । मऊरानीपुर में विकास खण्ड कार्यालय में आज कर्मचारियों द्वारा एक सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया गया जिसमें कर्मचारियों ने खण्ड विकास अधिकारी पर कई आरोप लगाते हुए उन पर कार्यवाही की मांग उठायी है। प्रदर्शनकारीयों की यह तस्वीरें मऊरानीपुर विकास खण्ड कार्यालय की हैं। जहां ग्राम विकास से जुड़े कर्मचारी धरने पर बैठ गए। इनका आरोप है कि विकास खण्ड अधिकारी प्रतिभा शाल्या द्वारा कर्मचारियों का शोषण किया जा रहा है। जिससे विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। आरोप लगाते हुए कर्मचारियों ने वीडियो हटाओ ब्लाॅक बचाओ के नारे लगाए। इसके साथ जिले के उच्चाधिकारियों को एक ज्ञापन भेजने की मांग उठायी है। कर्मचारियों का आरोप है कि मनरेगा एवं आवास और आपरेटर व सहायकों का भुगतान धनराशि होने के वाबजूद भी नहीं कराया गया। वहीं लगातार उन्हे कार्यमुक्त करने की धमकी दी जाती है। इसके अलावा रुटीन कर्मचारियों के सिग्नेचर कार्ड आदि पर सिग्नेचर करने के लिए उन्हे टाला जाता है। जनप्रतिनिधियों के सामने कर्मचारियों का अपमान किया जाता है। इसके अलावा आवश्यक कार्यों के लिए भी कर्मचारियों को परेशान किया जाता है। जैसी समस्याएं कर्मचारियों ने उठायी है। वही विकास खंड अधिकारी ने अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज़ कर दिया है। उनका कहना है कर्मचारी अपनी मनमाने तरीके से काम कर रहे थे लेकिन जब उन्हे सही तरीके से काम करने को कहा गया तो वह अब विरोध पर उतर आए हैं। उन्होने बताया कि यह वही कर्मचारी हैं जो कभी मीटिंग में उपस्थित नहीं होते। काम को ईमानदारी से नहीं करते और प्रधानों को भड़काने का काम करते हैं।
फिलहाल किसके आरोप सही हैं यह कहना बेहद ही मुश्किल है क्योंकि यह वही विभाग है जहां कोई भी दूध का धुला नहीं है। विकास के नाम पर जिले के सभी ब्लाॅॅकों में काफी भ्रष्टाचार होते आए हैं। जिनकी यदि क्रमबद्ध जांच हो कई आरोप सही भी साबित हो सकते हैं। ऐसे में जिलाधिकारी को मामला संज्ञान में लेकर जांच अवश्य करानी चाहिए।

✍️राजीव दीक्षित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here