SHARE

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लाल जी टंडन की हालत नाजुक बताई जा रही है। गुरुवार से लाल जी टंडन लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती थे और वहीं शनिवार रात को अचानक तबियत बिगड़ने पर डॉक्टर्स ने उनका ऑपरेशन किया था। ऑपरेशन के बाद लाल जी टंडन को वेंटिलेटर पर रखा गया था जिसके बाद उनकी हालत में सुधार आ रहा था। हालत में सुधार होने पर उन्हें वेंटिलेटर से हटा दिया गया था। लेकिन सोमवार को अचानक उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी जिसके बाद उन्हें वापिस से वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। लाल जी टंडन अभी आईसीयु में भर्ती हैं और उनकी हालत काफी नाज़ुक बताई जा रही है।

वहीं राज्यपाल के बिगड़ते तबियत को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज लखनऊ के लिए रवाना हुए हैं। सीएम के साथ प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा,और संघठन महा मंत्री सुहास भगत भी शामिल हैं। शिवराज स्टेट प्लेन के द्वारा स्टेट हैंगर भोपाल से लखनऊ के लिए रवाना हुए हैं। लाल जी टंडन की बिगड़ती हालत पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी ट्वीट कर लिखा है की “मध्यप्रदेश के राज्यपाल महामहिम श्री लाल जी टंडन की बीमारी के समाचार सुन कर चिंता हो रही है। प्रभु से हाथ जोड़ कर प्रार्थना है उन्हें शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हो और वे पूर्णतः स्वस्थ हों”।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टंडन से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली थी । सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ लालजी टंडन के पुत्र नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ‘गोपाल जी’ भी थे। एमपी के राज्यपाल टंडन लखनऊ के रहने वाले हैं। उत्तर प्रदेश में भाजपा तथा बसपा की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे थे लालजी टंडन. उन्होंने लखनऊ से सांसद के रूप में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की विरासत संभाली थी।

गुरुवार को टंडन की तबियत बिगड़ने पर उन्हें लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। लाल जी टंडन को बुखार पेशाब सम्बन्धी समस्या और साथ ही सांस लेन में तकलीफ हो रही थी। शनिवार को डॉक्टर्स ने जांच में यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन(Urinary  Tract Infection)) की समस्या बताई थी जिसके बाद उन्हें कुछ एंटीबायोटिक्स दी गयी थी जिससे उनका बुखार काम हुआ था लगातार बुखार आने की वजह से उनका कोविद 19 टेस्ट भी हुआ था लेकिन उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आयी थी। डॉक्टर्स ने फिर उनके लिवर की जांच की थी जिसमें कुछ समस्या पायी गयी थी और उसी को देखते हुए डॉक्टर्स ने उनका ऑपरेशन किया था। ऑपरेशन के बाद उनकी हालत स्टेबल थी लेकिन अचानक सोमवार को उन्हें फिर से सांस लेने में समस्या होने लगी जिसके कारण उनकी हालत नाज़ुक हो गयी।

SHARE