महरौनी: महरौनी कस्बे के ग्रामोत्थान सेवा समिति ने राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया

177
0
SHARE

शिक्षा के कानून का दायरा बढ़ाकर 12वीं तक किया जाए स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के मानकों का समुचित प्रबंधन करते हुए सरकार प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों को खोलें उक्त मार्ग किशोरियों छात्राओं के द्वारा बुंदेलखंड शिक्षा अधिकार फोरम आरटीआई फॉर्म एवं ग्रामोत्थान सेवा समिति महरौनी ललितपुर के द्वारा संयुक्त रुप से राष्ट्रीय बालिका दिवस का आयोजन किया गया कार्यक्रम किया गया है।
संबोधित करते हुए छात्रा अंजलि तिवारी ने राष्ट्रीय बालिका दिवस पर अपनी समस्या रखते हुए कहा की स्कूल बंद हुए 10 माह से अधिक हो गए हैं हमारी पढ़ाई पिछड़ रही है और हम पढ़ नहीं पा रहे हैं हालांकि ऑनलाइन पढ़ाई तो हो रही है किंतु हमारे पास मोबाइल नहीं है सरकार शीघ्र से शीघ्र स्कूलों को समुचित प्रबंधन के साथ खुले ताकि हम पढ़ सकें छात्रा शिखा सिंह ने कहा स्कूल हमारे घर से दूर है ऐसे में हमारे घर के 5 किलोमीटर के दायरे में इंटरमीडिएट तक स्कूल हो जिससे हम पढ़ सके शिक्षा ही हमारे लिए सब कुछ है हम पढ़ना चाहते हैं ,
किंतु हमारे घर के पास स्कूल नहीं है छात्रा आयुषी खरे ने कहा कि हमारे पास पढ़ने के लिए पैसे नहीं है और हम पढ़ना चाहते हैं,
मगर कानून के अभाव में हमें शिक्षा का अधिकार नहीं मिल पा रहा है।
यदि सरकार हमें निशुल्क व अनिवार्य इंटरमीडिएट तक के लिए कानून बनाएंगे तो शिक्षा का अधिकार कानून का दायरा बनाकर इंटरमीडिएट तक करे ꫰ बैठक मे लोगो को संबोधित करते हुए छात्रा कशिश खान ने कहा नई शिक्षा नीति में सकल घरेलू उत्पादक का 6 प्रतिशत खर्च किए जाने का प्रावधान किया गया है इस पर जल्द से जल्द सरकार अमल करें, ताकि शिक्षा की स्थिति में सुधार हो और सभी को शिक्षा मिले इसके लिए शिक्षा का अधिकार कानून का दायरा प्रारंभिक शिक्षा से बढ़ाकर इंटरमीडिएट तक की शिक्षा निशुल्क व अनिवार्य किया जाना चाहिए।
इस अवसर पर नगर के वरिष्ठ जन रामेश्वर प्रसाद रिछारिया , राजबहादुर खरे , सुखनंदन सोनी ग्रामोत्थान सेवा समिति के जिला संयोजक अनिल तिवारी सहित प्रदीप सोनी ,वैभव खरे , कुमकुम रिछारिया , निशा प्रजापति ,महक रोजी, सेजल, नंदिनी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

✍️प्रदुम दुबे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here